Marriage
विवाह कब कहाँ किस उम्र में कैसे-
युवक/युवती से होगा तथा किस दिशा में होगा:-
—————————–

मित्रों ,

चाहे इंसान अमीर हो या गरीब सभी के जीवन में शादी -विवाह का अवसर आता है जो गृहस्त जीवन का अति महत्वपूर्ण मोड़/विषय है।यह समय लगभग हर इंसान के जीवन मे आता है।
जैसे इसान के जीवन की अन्य क्रियाएँ प्रतिक्रियाएं ग्रह नक्षत्रों के आधार पर पूर्व से निर्धारित होती हैं ठीक वैसे ही वैवाहिक पक्ष का निर्धारण भी ग्रह नक्षत्रों के आधार पूर्व से निर्धारित होता है। शायद इसीलिए किसी कहा है की
“जोड़ियां ऊपर वाला बना कर भेजता है”
 
“ज्योतिष् विज्ञान” के आधार पर हम जान सकते हैं कि जातक का विवाह कब, कहाँ ,किस उम्र मे कैसे युवक या युवती से कितनी दूरी पर होगा। ससुराल कैसी होगी लड़की या लड़के का स्वभाव नौकरी/व्यवसाय रूप -रंग वैवाहिक जीवन सास- स्वसुर साला जेठ देवर इत्यादि इत्यादि का पता लगाया ज सकता है।

उक्त के अतिरिक्त विवाह के संबंध में कुछ नकारात्मक लक्षण भी होते हैं जैसे वैधव्य या विदुर योग तलाक की स्थिति बीमारी की स्थिति तथा जीवन में विवाह योग की नगण्यता( विवाह योग नहीं), शादी से पूर्व प्रेम संबंध, बिना विवाह के पति पत्नी जैसा रिश्ता इत्यादि इत्यादि योग जो हम ज्योतिषीय विश्लेषण से प्राप्त कर सकते हैं। बशर्ते जन्म विवरण 6 सेकेंड से 46 सेकेंड तक शुद्ध हो अन्यथा गलत सूचना प्राप्त होगी।

तो मित्रों इस लेख का मूल उद्देश्य यह है कि दाम्पत्य जीवन की उपरोक्त जानकारियां किसी सक्षम एवं समर्थ एस्ट्रोलोजर से प्राप्त कर भविष्य मे आने वाली विसंगतियो से बचने का प्रयास कर सकते हैं।
Medical Astrology 
Medical treatment through medical Astrology:-
—————————-
Mitron,
Medical Astrology ( traditionally known as iatromathematics) is capable of resolving any types of diseases through “medical Astrology” just like medical science.especially for chronic diseases.
It depends on time duration , i.e. it is on the initial stage or old stage.
?????
Mitron, a perfect astrologer can provide perfect treatment of your medical problems through correct kundli. Second thing is that if anyone is suffering from any type of medical problems(chronic diseases) & u r under m. treatment .
I think there is no loss to take advice by any perfect astrologer because each & every activity in our body r occurred through planets, nakshatra and rashi,s situations in your birth chart & dasha-antardasha & gochar etc.
?????
So it is my humble advice to consult with any capable Astrologer for best treatment of any types of diseases.